शनिवार, 24 मार्च 2012

किसने क्या किया?

किसी ने नाम दिया
किसी ने दाम लिया
गिरने लगे जब भी
किसी ने थाम लिया
(~ अनुराग शर्मा)

12 टिप्पणियाँ:

Deepak Saini ने कहा…

हाँ जी
सब का अलग अलग रोल है
आभार

दिगम्बर नासवा ने कहा…

क्या बात है अनुराग जी ...

प्रतिभा सक्सेना ने कहा…

वाह !

शिवम् मिश्रा ने कहा…

इस पोस्ट के लिए आपका बहुत बहुत आभार - आपकी पोस्ट को शामिल किया गया है 'ब्लॉग बुलेटिन' पर - पधारें - और डालें एक नज़र - बर्गर नहीं ककड़ी खाइए साथ साथ ब्लॉग बुलेटिन पढ़ते जाइए

Padm Singh ने कहा…

किसी ने थाम लिया... a friend in need is indeed

बेनामी ने कहा…

BADHIYA SIR.....!

बेनामी ने कहा…

BADHIYA SIR.....!

Maheshwari kaneri ने कहा…

वाह: खूब कहा..अनुराग जी

कुमार राधारमण ने कहा…

इतना भी तक़दीर वाला,नहीं हर कोई
जिस मोड़ पे भी आए,था सामने कोई

देवेन्द्र पाण्डेय ने कहा…

वाह!

प्रेम सरोवर ने कहा…

सार्थक पोस्ट । मेरे पोस्ट पर आका इंतजार रहेगा । धन्यवाद .

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

प्रेम जी, आपकी पोस्ट पर छोडी हुई मेरी टिप्पणियाँ वहाँ दिखाई नहीं देती हैं - ज़रा पता करके बताइये कि माजरा क्या है।

एक टिप्पणी भेजें

आते जाओ, मुस्कराते जाओ!