गुरुवार, 31 दिसंबर 2015

प्रेम गिलहरी दिल अखरोट


खस्ता शेर के सभी पाठकों को नववर्ष 2016 के आगमन पर हार्दिक मंगलकामनाएं!

युवा कवयित्री बाबुशा कोहली की पंक्ति "प्रेम गिलहरी दिल अखरोट" को विस्तार दिया अनुराग शर्मा ने

प्रेम गिलहरी दिल अखरोट
प्रेम लतीफा दिल लोटपोट

प्रेम इलेक्शन दिल का वोट
प्रेम गांधी तो दिल है नोट

प्रेम का कर्जा दिल प्रोनोट
प्रेम मथानी दिल को घोट

प्रेम TNT दिल विस्फोट
प्रेम के पत्थर दिल की चोट

प्रेम प्यास दिल सूखे होट
प्रेमी थीसिस दिल फुटनोट

~ चक्कू रामपुरी "अहिंसक"

3 टिप्पणियाँ:

PBCHATURVEDI प्रसन्नवदन चतुर्वेदी ने कहा…

वाह...बेहतरीन अभिव्यक्ति.....बहुत बहुत बधाई.....

Pawan Kumar ने कहा…

kafi rochak dhang se likhi gayi kavita hai
NEW YEAR WISHES 4 YOU

Unknown ने कहा…

nice post.....
Thanks For Sharing

एक टिप्पणी भेजें

आते जाओ, मुस्कराते जाओ!